Thursday, August 29, 2019

29 अगस्त, 2019 : राष्ट्रीय खेल दिवस

आज का दिन : 29 अगस्त, 2019

राष्ट्रीय खेल दिवस

National Sports Day


  • हॉकी के महान खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद सिंह के जन्म दिवस पर प्रतिवर्ष 29 अगस्त को 'राष्ट्रीय खेल दिवस' मनाया जाता है।
  • राष्ट्रीय खेल दिवस को मनाने का उद्देश्य मेजर ध्यानचंद के प्रति सम्मान प्रकट करने के साथ ही देश में खेलों के प्रति जागरुकता का माहौल बनाना है।
  • राष्ट्रीय खेल दिवस पर राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति खेलों में विशेष योगदान देने के लिए राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से खिलाडिय़ों को सम्मानित करते हैं। इनमें राजीव गांधी खेल रत्न, ध्यानचंद पुरस्कार, द्रोणाचार्य पुरस्कार, अर्जुन पुरस्कार और तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार शामिल हैं।
  • दुनिया भर में 'हॉकी के जादूगर' के नाम से प्रसिद्ध मां भारती के सपूत मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त, 1905 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ।
  • हमारे राष्ट्रीय खेल हॉकी में मेजर ध्यानचंद को महारत हासिल थी। उन्होंने भारत को 1928, 1932 और 1936 के ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाए।
  • मेजर ध्यानचंद ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान 400 से अधिक गोल किए। उन्होंने 1948 में सन्यास लिया।
  • भारत सरकार ने सन् 1956 में भारत के तीसरे उच्चतम नागरिक सम्मान पद्म भूषण से मेजर ध्यानचंद को सम्मानित किया।
  • सन् 2019 के खेल दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 'फिट इंडिया मूवमेंट' की शुरूआत करेंगे। इस आंदोलन का मुख्य लक्ष्य लोगों को फिट रहने के लिए जागरूक बनाना है।



राष्ट्रीय खेल पुरस्कार - 2019

  • राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए गठित 12 सदस्यीय चयन समिति ने 17 अगस्त 2019 को खेल पुरस्कारों की घोषणा की थी। राष्ट्रपति खेल दिवस यानी 29 अगस्त को  इन पुरस्कारों से सम्मानित होने वाली खेल हस्तियों को ये पुरस्कार प्रदान करेंगे।

राजीव गांधी खेल रत्न

  • राजीव गांधी खेल रत्न देश में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। यह पुरस्कार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है। इस पुरस्कार के तहत एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और साढ़े सात लाख रुपए पुरस्कार स्वरूप प्रदान किए जाते हैं। इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1991-92 में की गई थी।
  • राजीव गांधी खेल रत्न-2019 : बजरंग पूनिया (कुश्ती) और दीपा मलिक (पैरा एथलेटिक्स)

अजुर्न पुरस्कार

  • चार वर्ष तक बेहतरीन प्रदर्शन वाले खिलाड़ी को अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।  अर्जुन पुरस्कार के तहत पांच लाख रुपए की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1961 में की गई थी।
  • अर्जुन पुरस्कार-2019 : तजिंदर पाल सिंह तूर (एथलेटिक्स), मोहम्मद अनस यहिया (एथलेटिक्स), एस भास्करन (बॉडीबिल्डिंग), सोनिया लाथर (मुक्केबाजी), रवींद्र जडेजा (क्रिकेट), पूनम यादव (क्रिकेट), चिंगलेनसाना सिंह कंगुजम (हॉकी), अजय ठाकुर (कबड्डी), गौरव सिंह गिल (मोटर स्पोट्र्स), प्रमोद भगत (पैरा स्पोर्ट्स बैडमिंटन), अंजुम मुद्गिल (निशानेबाजी), हरमीत राजुल देसाई (टेबल टेनिस), पूजा ढांडा (कुश्ती), फवाद मिर्जा (घुड़सवारी), गुरप्रीत सिंह संधू (फुटबॉल), स्वप्ना बर्मन (एथलेटिक्स), सुंदर सिंह गुर्जर (पैरा स्पोट्र्स एथलेटिक्स), बी साई प्रणीत (बैडमिंटन) और सिमरन सिंह शेरगिल (पोलो)



द्रोणाचार्य पुरस्कार

  • द्रोणाचार्य पुरस्कार अंतर्राष्ट्रीय खेल स्पर्धाओं में पदक विजेता तैयार करने वाले कोच और खेल विकास के क्षेत्र में जीवन भर योगदान देने के लिए प्रदान किया जाता है। द्रोणाचार्य पुरस्कार के तहत गुरु द्रोणाचार्य की प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पांच लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है। इस पुरस्कार की स्थापना वर्ष 1985 में की गई।
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार-2019 (नियमित): विमल कुमार (बैडमिंटन), संदीप गुप्ता (टेबल टेनिस) और मोहिंदर सिंह ढिल्लों (एथलेटिक्स)
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार-2019 (लाइफ टाइम) : मरजबान पटेल (हॉकी), रामबीर सिंह खोखर (कबड्डी) और संजय भारद्वाज (क्रिकेट)

ध्यानचंद पुरस्कार

  • ध्यानचंद पुरस्कार खेल-कूद में जीवनभर आजीवन उपलब्धि के लिए प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार महान भारतीय हॉकी खिलाड़ी ध्यानचंद के नाम पर है। पुरस्कार स्वरूप एक प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पाँच लाख रुपए नकद दिये जाते हैं। ध्यानचंद पुरस्कार वर्ष 2002 में शुरू किया गया।
  • ध्यानचंद पुरस्कार-2019 : मैनुअल फ्रेडरिक्स (हॉकी), अरूप बसाक (टेबल टेनिस), मनोज कुमार (कुश्ती), नितिन कीर्तने (टेनिस) और सी लालरेमसांगा (तीरंदाजी)

राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार-2019

  • गगन नारंग स्पोर्ट्स, प्रमोशन फाउंडेशन और गो स्पोर्ट्स और रॉयलसीमा विकास ट्रस्ट

मौलाना अबुल कलाम आजाद (माका) ट्रॉफी-2019

  • पंजाब यूनीवर्सिटी चंडीगढ़

तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहस पुरस्कार-2019

  • अपर्णा कुमार (भू साहस), स्वगीर्य दीपांकर घोष (भू साहस), मणिकंदन के (भू साहस), प्रभात राजू कोली (जल साहस), रामेश्वर जांगड़ा (वायु साहस), वांगचुक शेरपा (जीवन पर्यन्त उपलब्धि)।

No comments:

Post a Comment